Zakhmi Dil Ki Shayari || ज़ख़्मी दिल की हिंदी शायरी

Sad Zakhmi Dil Ki Shayari हेल्लो दोस्तों सोवागत है हमारे एक और नया शायरी वाली ब्लॉग पोस्ट में। दोस्तों इस पोस्ट में आपको मिलेगा ज़ख़्मी दिल की शायरी। में उम्मीद करता हु आपको ये शायरी बहुत ही पसंद आएगा। तो चलिए अब शायरी पड़ते हे।

Best Zakhmi Dil Ki Shayari – ज़ख़्मी दिल शायरी

Zakhmi Dil Ki Shayari
“एक दिल मेरे दिल को ज़ख्म दे गया,
जिंदगी भर जीने की कसम दे गया,
लाखों फूलों में से एक फूल चुना हमने,
जो काँटों से गहरी चुभन दे गया”
“Ek Dil Mere Dil Ko Zakhm De Gaya,
Jindagee Bhar Jeene Kee Kasam De Gaya,
Laakhon Phoolon Mein Se Ek Phool Chuna Hamane,
Jo Kaanton Se Gaharee Chubhan De Gaya”
“जख़्म इतना गहरा हैं इज़हार क्या करें,
हम ख़ुद निशां बन गये ओरो का क्या करें,
मर गए हम मगर खुली रही आँखे हमारी,
क्योंकि हमारी आँखों को उनका इंतज़ार हैं।”
“Jakhm Itana Gahara Hain Izahaar Kya Karen.
Ham Khud Nishaan Ban Gaye Oro Ka Kya Karen.
Mar Gae Ham Magar Khulee Rahee Aankhe Hamaaree.
Kyonki Hamaaree Aankhon Ko Unaka Intazaar Hain.”
“Log Apna Bnake Chor Dete Hai,
Apno Se Rishta Tod Dete Hai Aur Gairo Se Jod Dete Hai,
Hum To Ek Phool Na Tod Ske,
Naa Jane Log Dil Kaise Tod Dete Hai”
“अभी खत्म कहाँ अभी है ये जारी,
और भी आएंगे लेकर इश्क़ की बीमारी,
कोई खुश होगा तो कोई ज़ख्म सहेगा,
ऐसे ही चलती रहेगी ये दुनिया सारी।”
English Shayari on Toote Dil Aur Zakhme Dil
“Abhee Khatm Kahaan Abhee Hai Ye Jaaree,
Aur Bhee Aaenge Lekar Ishq Kee Beemaaree,
Koee Khush Hoga To Koee Zakhm Sahega,
Aise Hee Chalatee Rahegee Ye Duniya Saaree.”
“Na Muskuraane Ko Jee Chahta Hai,
Na Aansoo Bahaane Ko Jee Chahta Hai,
Likhoon To Kya Likhoon Teri Yaad Mein,
Bas Tere Paas Laut Aane Ko Jee Chahta Hai!!!”
“Toote Hue Pyaale Mein Jaam Nahin Aata,
Ishq Mein Mareej Ko Aaram Nahin Aata ,
Ye Bewafa Dil Todne Se Pahle Ye Soch To Liya Hota,
Ke Tuta Hua Dil Kisi Ke Kaam Nahin Aata!!!,”
“तेरा दिया ज़ख्म नहीं भरा मैं भी क्रूर बन गया,
देखते देखते ज़ख्म भी अब तो नासूर बन गया,
तेरे ख्यालों से सजाकर रखते थे कभी दिल को,
अब तो तेरा इश्क भी इबादत से फितूर बन गया।”
“Tera Diya Zakhm Nahin Bhara Main Bhee Kroor Ban Gaya,
Dekhate Dekhate Zakhm Bhee Ab To Naasoor Ban Gaya,
Tere Khyaalon Se Sajaakar Rakhate The Kabhee Dil Ko,
Ab To Tera Ishk Bhee Ibaadat Se Phitoor Ban Gaya.”
“Zakhm Puraane Hue Koee To Naya Zakhm De Jao
Chalo Aao Phir Se Phir Se Vahee Ishq Le Aao !!”
“ना हम रहे दिल लगाने काबिल,
ना दिल रहा ग़म उठाने काबिल,
लगे उसकी यादों के जो ज़ख्म दिल पर,
ना छोड़ा उसमे मुस्कुराने के काबिल।।”
“Na Ham Rahe Dil Lagaane Kaabil,
Na Dil Raha Gam Uthaane Kaabil,
Lage Usakee Yaadon Ke Jo Zakhm Dil Par,
Na Chhoda Usame Muskuraane Ke Kaabil..”
“अपनों से खाये जखम तोह,
आदत सी हो गई जखम खाने की ,,
इनकी ठोकर लगी है हमे अब तो,,
आदत सी हो गई चोट खाकर मुस्कुराने की”
“Apanon Se Khaaye Jakham Toh,
Aadat See Ho Gaee Jakham Khaane Kee ,,
Inakee Thokar Lagee Hai Hame Ab To,
Aadat See Ho Gaee Chot Khaakar Muskuraane Kee “
“ज़ख्म मेरा है दर्द मुझको होता है,
इस ज़माने मे कौन किसका होता है,
उन्हे नींद नही आती जो प्यार करता है,
पर जो दिल को तोड़ता है वह चैन से सोता है”
“Zakhm Mera Hai Dard Mujhako Hota Hai,
Is Zamaane Me Kaun Kisaka Hota Hai,
Unhe Neend Nahee Aatee Jo Pyaar Karata Hai,
Par Jo Dil Ko Todata Hai Vah Chain Se Sota Hai”
“दिल टूटा हैं प्यार में,
ज़ख़्मी दिल है पास मेरे,
ज़ख्म मिले है प्यार में,
ज़ख़्मी दिल है पास मेरे”
“Dil Toota Hain Pyaar Mein,
Zakhmee Dil Hai Paas Mere,
Zakhm Mile Hai Pyaar Mein,
Zakhmee Dil Hai Paas Mere”

टूटे दिल की शायरी इन हिंदी

 ये भी पढ़िए
  • माफ़ी शायरी हिंदी में 
  • सैड शायरी हिंदी में 
  • Propose करने की शायरी
“ज़ख्म कितना है दिखा नहीं सकता,
दर्द कितना है बता नहीं सकता,
आंखों से समझ सको तो समझ लो,
आंसू गिरे कितने है गिना नहीं सकता”
“Zakhm Kitana Hai Dikha Nahin Sakata,
Dard Kitana Hai Bata Nahin Sakata,
Aankhon Se Samajh Sako To Samajh Lo,
Aansoo Gire Kitane Hai Gina Nahin Sakata”
“अच्छी सूरत पे गजब टूट के आना दिल का,
याद आता है हमें हाय ज़माना दिल का,
इन हसीनों का लड़कपन ही रहे या अल्लाह,
होश आता है तो याद आता है सताना दिल का।”
“Achchhee Soorat Pe Gajab Toot Ke Aana Dil Ka,
Yaad Aata Hai Hamen Haay Zamaana Dil Ka,
In Haseenon Ka Ladakapan Hee Rahe Ya Allaah,
Hosh Aata Hai To Yaad Aata Hai Sataana Dil Ka.”
“आग दिल में लगी जब वो खफा हुए,
महसूस हुआ तब, जब वो जुदा हुए,
करके वफा कुछ दे ना सके वो,
पर बहुत कुछ दे गए जब वो बेवफा हुए..!!”
“Aag Dil Mein Lagee Jab Vo Khapha Hue
Mahasoos Hua Tab, Jab Vo Juda Hue,
Karake Vapha Kuchh De Na Sake Vo,
Par Bahut Kuchh De Gae Jab Vo Bevapha Hue..!!”

zakhmi dil shayari facebook

“वो रोये तो बहुत पर मुझसे मुँह मोड़ कर रोये,
कोई मजबूरी होगी जो दिल तोड़ कर रोये,
मेरे सामने कर दिए मेरी तस्वीर के टुकड़े,
पता चला मेरे पीछे वो उन्हें जोड़ कर रोये.”
“Vo Roye To Bahut Par Mujhase Munh Mod Kar Roye,
Koee Majabooree Hogee Jo Dil Tod Kar Roye,
Mere Saamane Kar Die Meree Tasveer Ke Tukade,
Pata Chala Mere Peechhe Vo Unhen Jod Kar Roye.”
“जख्म जब मेरे सिने के भर जाएंगे,
आँसू भी मोती बनकर बिखर जाएंगे,
ये मत पूछना किस किस ने धोका दिया,
वरना कुछ अपनों के चेहरे उतर जाएंगे”
“Jakhm Jab Mere Sine Ke Bhar Jaenge,
Aansoo Bhee Motee Banakar Bikhar Jaenge,
Ye Mat Poochhana Kis Kis Ne Dhoka Diya,
Varana Kuchh Apanon Ke Chehare Utar Jaenge”
“दूर जाने की बात मत किया करो,
तुम गए तो समझो जान गई,
पीठ भरी पड़ी थी उसके वार से,
ज़ख्म दिखाया तो बुरा मान गई।”
“Door Jaane Kee Baat Mat Kiya Karo,
Tum Gae To Samajho Jaan Gaee,
Peeth Bharee Padee Thee Usake Vaar Se,
Zakhm Dikhaaya To Bura Maan Gaee.”

ज़ख़्मी दिल शायरी

“कभी कभी ख़ामोशी भी बहुत कुछ कह जाती है,
तड़पने के लिए यादें रह जाती है,
क्या फर्क पड़ता है वील्स हो या रेगुलर,
जलने के बाद सर्फ़ राख रह जाती है”
“ना मुस्कुराने को जी चाहता है,
न आंसू बहाने को जी चाहता है,,
लिखूं तो क्या लिखूं तेरी याद में,,
बस तेरे पास लौट आने को जी चाहता है!!!”
“हर तन्हा रात में एक नाम याद आता है,
कभी सुबह कभी शाम याद आता है,
जब सोचते हैं कर लें दोबारा मोहब्बत,
फिर पहली मोहब्बत का अंजाम याद आता है।”
“समझा ना कोई दिल की बात को,
दर्द दुनिया ने बिना सोचे ही दे दिया,
जो सह गए हर दर्द को हम चुपके से,
तो हमको ही पत्थर-दिल कह दिया”
“लोग अपना बनाके चोर देते है
अपनों से रिश्ता तोड़ देते है और गैरो से जोड़ देते है
हम तो एक फूल ना तोड़ सके
ना जाने लोग दिल कैसे तोड़ देते है”
“मिल भी जाते हैं तो कतरा के निकल जाते हैं,
हैं मौसम की तरह लोग बदल जाते हैं,
हम अभी तक हैं गिरफ्तार-ए-मोहब्बत यारों,
ठोकरें खा के सुना था कि संभल जाते हैं।”
“चाहत टूटी तो जिन्दगी बिखर जायेगी,
ये जुल्फ़ नहीं है जो हर बार संवर जायेगी,
थाम लो दामन उसका जो तुम्हे ख़ुशी दे,
वरना रो-रो कर तो सारी उम्र गुजर जायेगी.”
ज़ख़्मों का हिसाब शायरी
“Chaahat Tootee To Jindagee Bikhar Jaayegee,
Ye Julf Nahin Hai Jo Har Baar Sanvar Jaayegee,
Thaam Lo Daaman Usaka Jo Tumhe Khushee De,
Varana Ro-Ro Kar To Saaree Umr Gujar Jaayegee.”
“जानने की कोशिश की थी तुमको,
तुमने कभी मुझ पर ध्यान ना दिया,
गैरों पर तुम्हे गहरा विश्वास था,
जिसने अपना समझा उस पर विश्वास ना किया।”
“Jaanane Kee Koshish Kee Thee Tumako,”
Tumane Kabhee Mujh Par Dhyaan Na Diya,
Gairon Par Tumhe Gahara Vishvaas Tha,
Jisane Apana Samajha Us Par Vishvaas Na Kiya.”
“परवाह करनेवाले अक्सर रुला जाते है,
अपना कहकर पराया कर जाते है,
वफ़ा जितनी भी करो कोई फर्क नहीं,
“मुझे मत छोड़ना” कहकर खुद छोड़ जाते।”
“Paravaah Karanevaale Aksar Rula Jaate Hai,
Apana Kahakar Paraaya Kar Jaate Hai,
Vafa Jitanee Bhee Karo Koee Phark Nahin,
“Mujhe Mat Chhodana” Kahakar Khud Chhod Jaate.”
“दिल का हाल बताना नही आता,
किसी को ऐसे तडफाना नही आता,
सुन ना चाहते हैं एक आवाज़ आपकी मगर,
बात करने का बहाना नही आता”
“Dil Ka Haal Bataana Nahee Aata,
Kisee Ko Aise Tadaphaana Nahee Aata,
Sun Na Chaahate Hain Ek Aavaaz Aapakee Magar,
Baat Karane Ka Bahaana Nahee Aata”
“अब मोहब्बत नहीं रही इस जमाने में,
क्योंकि लोग अब मोहब्बत नहीं मज़ाक किया करते है।”
“Ab Mohabbat Nahin Rahee Is Jamaane Mein,
Kyonki Log Ab Mohabbat Nahin Mazaak Kiya Karate Hai.”

Two Line Shayari on Zakhmi Dil

“हाथ ज़ख़्मी हुए तो कुछ अपनी ही खता थी
लकीरों को मिटाना चाहा किसी को पाने की खातिर .”
“Haath Zakhmee Hue To Kuchh Apanee Hee Khata Thee
Lakeeron Ko Mitaana Chaaha Kisee Ko Paane Kee Khaatir .”
“लिखना तो था खुश हूँ तेरे बिगैर भी
आंसू मगर कलम से पहले ही गिर गए”
“Likhana To Tha Khush Hoon Tere Bigair Bhee
Aansoo Magar Kalam Se Pahale Hee Gir Gae”
“मैंने सोंचा न था वो मेरा दिल तोड़ जाएगा,
ऐसे कोई किसी को ज़ख़्म देकर न जाया करे.”
“Mainne Soncha Na Tha Vo Mera Dil Tod Jaega,
Aise Koee Kisee Ko Zakhm Dekar Na Jaaya Kare”

zakhmi dil shayari hindi 140

“जब याद तुम्हारी आती है,
दिल खून के आंसू रोता है,
यह दर्द देनेवाला क्या जाने,
दिल का दर्द कैसा होता है.”
“Jab Yaad Tumhari Aati Hai,
Dil Khun Ke Aansu Rota Hai,
Yeh Dard Denewala Kya Jane,
Dil Ka Dard Kaisa Hota Hai.”
“अब शिकायत तुझसे नहीं खुद से है
माना के सारे झुओत तेरे थे पर
उनपर यकीन तो मेरा था”
“Ab Shikaayat Tujhase Nahin Khud Se Hai
Maana Ke Saare Jhuot Tere The Par
Unapar Yakeen To Mera Tha”
“दिल की तकलीफ़ कम नहीं करते
अब कोई शिकवा हम नहीं करते”
“Dil Kee Takaleef Kam Nahin Karate
Ab Koee Shikava Ham Nahin Karate”
“मुझे फुरसत ही कहाँ मौसम सुहाना देखूं
मै तेरी ज़ात से निकलूं तो ज़माना देखूं”
“Mujhe Phurasat Hee Kahaan Mausam Suhaana Dekhoon
Mai Teree Zaat Se Nikaloon To Zamaana Dekhoon”
“कितना नादान है ये दिल कैसे समझाऊ
तू जिसे खोना नहीं चाहता हो तेरा होना नहीं चाहता “
“Kitana Naadaan Hai Ye Dil Kaise Samajhaoo
Too Jise Khona Nahin Chaahata Ho Tera Hona Nahin Chaahata”

Jakhmi Dil Status For Whatsapp

“बहुत खुशनसीब होते है वो लोग,
जिनका प्यार उनकी कदर भी करता है और इज़्ज़त भी।”
“Bahut Khushanaseeb Hote Hai Vo Log,
Jinaka Pyaar Unakee Kadar Bhee Karata Hai Aur Izzat Bhee.”
“तेरी मुहब्बत भी किराये के घर की तरह थी,
कितना भी सजाया पर मेरी नहीं हुई!!!”
“Teree Muhabbat Bhee Kiraaye Ke Ghar Kee Tarah Thee,
Kitana Bhee Sajaaya Par Meree Nahin Huee!!”
“माना मौसम भी बदलते है मगर धीरे-धीरे,
तेरे बदलने की रफ़्तार से तो हवाएं भी हैरान है।”
“Maana Mausam Bhee Badalate Hai Magar Dheere-Dheere,
Tere Badalane Kee Raftaar Se To Havaen Bhee Hairaan Hai”
“तन्हाई साथी है मेरी जिंदगी के हर पल की
कैसे शिकायत करूँ कि किसी ने साथ नहीं दिया मेरा..!!!”
“Tanhaee Saathee Hai Meree Jindagee Ke Har Pal Kee
Kaise Shikaayat Karoon Ki Kisee Ne Saath Nahin Diya Mera..!!!”
“जख्म देकर ना पूछा करो तुम दर्द की शिद्दत,
दर्द तो दर्द होता हैै थोड़ा क्या और ज्यादा क्या।”
“Jakhm Dekar Na Poochha Karo Tum Dard Kee Shiddat,
Dard To Dard Hota Haiai Thoda Kya Aur Jyaada Kya.”
“ज़ख्म पुराने हुए कोई तो नया ज़ख्म दे जाओ
चलो आओ फिर से फिर से वही इश्क़ ले आओ !!”
“क्या बात है, बड़े चुपचाप से बैठे हो.
कोई बात दिल पे लगी हैया दिल कही लगा बैठे हो..”
“अंदर से तो कब के मर चुके है हम,
ए मौत तू भी आजा लोग सबूत मांगते है”
“Andar Se To Kab Ke Mar Chuke Hai Ham,
E Maut Too Bhee Aaja Log Saboot Maangate Hai”
“उसके प्यार में हमने जमाना भुला दिया
और उसने भरी महफिल में, हमारा तमाशा बना दिया”
“Usake Pyaar Mein Hamane Jamaana Bhula Diya
Aur Usane Bharee Mahaphil Mein, Hamaara Tamaasha Bana Diya”
“मेरी गलती बस यही थी के मैंने हर
किसी को खुद से ज़्यादा जरुरी समझा”
“Meree Galatee Bas Yahee Thee Ke Mainne Har
Kisee Ko Khud Se Zyaada Jaruree Samajha”
“मैं तो रह लूंगा तुझसे बिछड़ कर तन्हा भी,
बस दिल का सोचता हूँ, कहीं धडकना न छोड़ दे!!”
“Main To Rah Loonga Tujhase Bichhad Kar Tanha Bhee,
Bas Dil Ka Sochata Hoon, Kaheen Dhadakana Na Chhod De!!”